12 Nov 2015

आस्तीन के सांप

शर्म आती है की देश का प्रतिनिधि किसी दूसरे देश में जाकर अपने देश की गरीबी का और भ्रष्टाचार का तरह दुनिया के सामने बखान करे क्या इस देश ने पिछले 60 सालों में कुछ नहीं पाया क्या इस देश में इतनी गरीबी और भ्रष्टाचार था की दुनिया के सामने हम अपने आप को बेबस और लाचार परस्तुत करें
नहीं हम लाचार ना थे ना ही होंगे.....
बस मुद्दे की बात यह हे मोदीजी पहले आप अपने लोगों को ठीक करने और भारत के विकास बारे में सोचिये .....यह जो भारत की अखंडता के साथ खिलवाड़ करने वाले तत्व हे जो नफरत और ज़हर उगलते बयानों से भारत को तोड़ने का काम कर रहे ऐसे सपोलो पर लगाम लगाईये...वरना यही सपोले कल आस्तीन के सांप बन कर ड्सेंगे........जिसकी एक झलक दिल्ली और बिहार में दिख चुकी है ....

No comments:

Post a Comment