15 Nov 2015

आम आदमी का पैगाम ..

आम आदमी का पैगाम ...

पिछले कई सालों से धर्म सत्ता और राजनेतिक सत्ता मिल कर जनता का शोषण करती रही है .
पता नही इंसान का कितना खून धर्म के नाम पर बहाया गया है .
आज भी मंदिर मस्जिद के नाम पर इंसान को नफरत की घूटी पिलाई जा रही है .
क्या मंदिर मस्जिद और धर्म के नाम पर लड़ने से रोजी रोटी का मसला हल हो जायेगा ?
आज हमे आम आदमी को हिन्दू मुस्लिम के नाम पर बांटा जा रहा है और आपस में भाईचारे के बजाये नफरत के बीज बोये जा रहे है
दुष्ट नेताओं को इस से क्या , उनको तो वोट बैंक की राजनेति करनी है . 
और कुछ लोग जो धर्म का चोला ओढ़े ..धर्म और अंधविश्वास की सीड़ी का उपयोग करके जनता  को असली मुद्दे से भटकाने का काम कर रहे है  ........
जिसका फ़ायदा भृष्ट राज-नेता उठा रहे है. उनका मकसद भी यही है की जनता धर्म का चोला ओढ़े इन पाखंडियों के चक्कर में सोई रहे और यह भृष्ट नेता आम आदमी के वोट को लूट खसूट कर सत्ता पर काबिज रहे....
हद तो तब हो जाती है जब हमारे लोकतंत्र का चौथा स्तम्ब कहलाने वाला मीडिया इन पाखंडी और धर्म के ठेकेदारों को जनता के समुख परस्तुत कर के जनता को धर्म के नाम पर नफरत की अफीम पिलाने का काम कर रहा है ..............यह सब क्या हो रहा है ?
क्या यह सब आम आदमी को सुलाने का सोचा समझा षड्यंत्र नहीं है 
क्या आम आदमी को सुलाने के षड्यंत्र में सभी धर्मों के कुछ पाखंडी और मीडिया बखूबी
शामिल नही है.?....आखिर कबतक हम एक दुसरे का खून सिर्फ धर्म के नाम पर बहाते रहेंगे  
आओ हम सब मिल कर विचार करें की यह कोनसी  साजिश हो रही है  
हमे अपने दुश्मन और दोस्तों  की पहचान हर हालत में करनी होगी  
दोस्तों आज हमारा हिन्दुस्तान बड़े ही नाजुक और खतरनाक दौर से गुजर रहा है . 
आओ अपने घरों से बाहर निकलें और अपनी जिम्मेदारी को पूरा करें ......
और यह तभी होगा जब हम इनका जवाब सिर्फ #मोहब्बत_के_दंगों से देंगे ...तो आईये और जिम्मेदार नागरिक बनकर इस मुहीम में शामिल हो जाईये ............


.यह एक आम आदमी की आवाज़ है .........MJ RAAJ 

No comments:

Post a Comment